tips-for-pregnant-women-in-hindi-featured-image

गर्भवती महिलाओं के लिए स्वास्थ्य टिप्स!

माँ बनने का सुख जीवन के सबसे अनोखे अनुभवों में से एक है। पर एक बार जब आप ये अच्छी खबर साझा कर देते हैं, आपकी माँ, चाची, बहनें और अन्य सहेलियाँ सलाह और मशवरों की भरमार कर देती हैं।
अपने-अपने अनुभवों के आधार पे हर कोई आपको सुझाव देने की कोशिश करेगा। क्या खाना है, क्या नई खाना है, दवाई, आराम, थोड़ा सा ही काम…इस सूची का तो मानो कोई अंत ही नही।

इन अनेक अच्छे हेतु से दिये गए सुझावों में लोग गर्भावस्था के दौरान शारीरिक रूप से फिट रहने का सुझाव नहीं देंगे। गर्भवती महिलाओं के लिए शारीरिक फिटनेस उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि यह किसी और के लिए है।
इसीलिए इस चिंता को हल करने के लिए, AdviceUncle गर्भवती महिलाओं के लिए शारीरिक फिटनेस के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्नों के साथ आया है, कुछ सोचे-समझे उत्तरों के साथ…

क्या गर्भावस्था के दौरान शारीरिक व्यायाम करना सुरक्षित है?

बेशक गर्भावस्था के दौरान शारीरिक व्यायाम बहुत सुरक्षित है। वास्तव में सभी वैद्य और डॉक्टर गर्भवती महिलाओं को इसकी सलाह देते हैं। यह एक मिथक है कि गर्भावस्था के दौरान एक महिला को केवल आराम करना चाहिए। माँ और बच्चे दोनों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए, यह जरूरी है कि महिला कुछ प्रकार की शारीरिक गतिविधि में शामिल ज़रूर हो।

गर्भावस्था के किस चरण से कसरत शुरू की जानी चाहिए?

कसरत शुरू करने के लिए कोई विशिष्ट समय अवधि नहीं है। यदि आपने कभी इस सबसे पहले कुछ व्यायाम नहीं किया हैं, तो गर्भावस्था को यह लाभकारी कार्य शुरू करने के लिए आप इसे एक अच्छी संधि की तरह उपयोग कर सकती हैं।

pregnancy-care-tips-in-hindi

आप छोटे-छोटे कदम लेके व्यायाम का यह सफर शुरू कर सकते हैं और समय के साथ इसमे बदल कर सकते हैं। कसरत के लिए एक फिटनेस विशेषज्ञ से परामर्श करने की सलाह दी जाती है क्योंकि गर्भावस्था एक महिला के जीवन में एक नाजुक अवधि है।

यदि आप पहले से ही किसी प्रकार के व्यायाम दिनचर्या का पालन कर रहे हैं, तो सलाह दी जाती है कि आप अपने फिटनेस ट्रेनर को जितनी जल्दी हो सके गर्भवती होने के बारे में सूचित करें। और इसी प्रकार आपकी नयी व्यायाम दिनचर्या आपके वर्तमान स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए बनाई जाएगी। आप कभी भी अपनी कसरत शुरू कर सकते हैं और अपनी गर्भावस्था में भी जारी रख सकते हैं जब तक कि आपके स्त्री रोग विशेषज्ञ ने आपको इसके खिलाफ सलाह नहीं दी है।

गर्भावस्था के दौरान शारीरिक गतिविधि क्यों महत्वपूर्ण है?

कई गर्भवती महिलाओं के मन में यही प्रश्न उठता है। जहां उन्हें चलने जैसे सरल गतिविधि के दौरान भी यथासंभव सावधान रहने के लिए कहा जाता है, तो कोई कसरत करने की सलाह क्यों देगा ??

इस सवाल का जवाब देने के लिए, एक मिथक से छुटकारा पाने के लिए आवश्यकता है; वह ये कि वर्जिश हमेशा ज़ोरदार और कठोर क्रिया होती है।

हालांकि यह सच है कि वर्जिश में शारीरिक श्रम शामिल है, इसका मतलब यह नहीं कि इसे हमेशा ज़ोरदार होना चाहिए। आजकल गर्भवती महिलाओं के अनुरूप डिज़ाइन करने के लिए विशेष व्यायाम दिनचर्याएं उपलब्ध है। ये शारीरिक गतिविधियाँ सुनिश्चित करने के साथ-साथ गर्भावस्था में माँ और बच्चे स्वस्थ बनाए रखती हैं।

बाल जन्म के लिए श्रोणि की मांसपेशियों को बहुत सारे तनाव और धक्के की आवश्यकता होती है। इसके लिए, गर्भावस्था के दौरान एक महिला को मजबूत पीठ और श्रोणि की मांसपेशियों को विकसित करने की आवश्यकता होती है। उचित व्यायाम ऐसा करने में मदद करेगा।

कब्ज, परिवर्तित खान-पान की आदतें, अंगों की सूजन, गर्भावस्था के दौरान सामना की जाने वाली कई समसस्याओं में से है। नियमित कसरत इन समस्याओं को नियंत्रित करने और अनावश्यक स्वास्थ्य समस्याओं को रोकने में मदद करता है।

गर्भावस्था के दौरान कौन सी गतिविधियाँ अच्छी कसरत प्रदान करेंगी?

कोई भी गतिविधि जो आपके या आपके बच्चे के लिए संभावित खतरा नहीं है, गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित रूप से की जा सकती है। गर्भावस्था के दौरान योग, एरोबिक्स, पैदल चलना, पिलाटेज़, जिम कसरत, यहां तक कि तैराकी भी काफी सुरक्षित है।

pregnant-woman-stretching-exercise

लेकिन गर्भावस्था के दौरान सभी प्रकार के व्यायाम, आसन इत्यादि कर पाना संभव नहीं होगा। परंतु इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि जब तक आपके स्त्री रोग विशेषज्ञ और फिटनेस ट्रेनर आपको अनुमति नहीं देते तब तक कोई कसरत शुरू न करें।

जैसे-जैसे गर्भावस्था आगे बढ़ती जाएगी, आपके व्यायाम करने के तकनीक में फरक आता जाएगा। अपने आराम, सुविधा और प्रशिक्षकों की सलाह के अनुसार इसे सुधारा जा सकता है। आप YouTube फिटनेस चैनल पर एक नज़र डाल सकते हैं जहां आप अपनी गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने के लिए कुछ आसान तकनीक सीख सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान शारीरिक व्यायाम कब असुरक्षित माना जाता है?

हालांकि यह सच है कि गर्भावस्था के दौरान शारीरिक व्यायाम दोनों बच्चे और माँ के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है, परंतु यह ज़रूरी नहीं कि हर गर्भवती स्त्री इस अवस्था में शारीरिक व्यायाम कर पाएगी। यदि आप किसी भी स्वास्थ्य स्थिति या रोग से पीड़ित हैं जो आपकी गर्भावस्था और प्रसव को मुश्किल बना सकता है, तो पहले स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लिए बिना किसी भी प्रकार की कसरत आरंभ न करें।

गर्भावस्था के दौरान योनि रक्तस्राव, उच्च रक्तचाप, पीठ दर्द, गर्भाशय की मांसपेशियों की कमजोरी, गर्भाशय की मांसपेशियों की अपर्याप्तता, कुछ संकेत हैं कि एक महिला को गर्भावस्था के दौरान ज़्यादा से ज़्यादा आराम करना चाहिए।

यदि आप गर्भावस्था के दौरान इनमें से किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को अनुभव कर रहे हैं, बेहतर यही रहेगा कि बच्चे के जन्म तक आप शारीरिक रूप से तान देने वाली कोई भी गतिविधि से दूर रहें। आखिरकार, गर्भावस्था के दौरान आप जो कुछ भी करेंगे, वह अपने नन्ही सी जान के अच्छा स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने हेतु ही होगा, है ना?

गर्भावस्था के दौरान कौन सी गतिविधियाँ टालनी चाहिए?

कोई भी कसरत जो आपके लिए असुविधा का कारण बन सकती है, गर्भावस्था के दौरान टाली जानी चाहिए, भले ही वह व्यायाम इस अवधि के दौरान सुरक्षित ही क्यों ना मानी जाती हो।

आपका शरीर आपका सबसे अच्छा दोस्त है और यदि कोई आंतरिक समस्या है तो वह आपको संकेत भेजता है। किसी भी व्यायाम करने के दौरान पेट दर्द, जी मिचलाना, चक्कर आना या ‘कुछ ठीक न लगना’ यह संकेत है कि आपको तुरंत व्यायाम बंद करना चाहिए।

which-exercise-should-be-avoided-in-pregnancy-in-hindi

व्यायाम जो पेट की मांसपेशियों पर तनाव डाले, गर्भावस्था के दौरान विशेष रूप से दूसरे तिमाही के बाद से नहीं कीये जाने चाहिए। यह बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है।

कुछ योगासन पेट की मांसपेशियों पर तनाव डालते है जिन्हें गर्भावस्था के दौरान टाला जा सकता है। रस्सी-कूद तथा अन्य ऐसी गतिविधियाँ पहले तिमाही तक किए जा सकते है, लेकिन गर्भावस्था के बाद के चरणों के दौरान, इस प्रकार के की क्रियाओं से सख्ती से बचा जाना चाहिए।

यदि कोई शारीरिक कसरत आपको कोई असुविधा पैदा कर रहा है, तो जल्द से जल्द अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से मुलाकात करें। हर समय तत्काल देखभाल करके प्रतिकूल परिणामों से बचें।

कसरत की अवधि क्या होनी चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान कसरत करने के लिए कोई आदर्श अवधि नहीं है। यह सब आपके स्वास्थ्य, आपकी शारीरिक सहनशक्ति और आपकी गर्भावस्था के चरण पर निर्भर करता है। दूसरे और तीसरे तिमाही की तुलना में पहली तिमाही के दौरान कसरत के लिए अपेक्षाकृत आसान है।

यह कुछ चीज़ें हैं जिन्हें हर गर्भवती महिला को शारीरिक फिटनेस के बारे में जानना आवश्यक है। गर्भावस्था के दौरान अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ के साथ हमेशा तालमेल बनाए रखे ताकि कोई भी अकस्मात परिस्थिति के लिए तैयार रह सकें। इस सलाह के बाद आपको और आपके बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद मिलेगी।

लेख पसंद आया? कई और जानकारीपूर्ण लेख सिर्फ एक क्लिक दूर हैं। शारीरिक फिटनेस और मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित अन्य विषयों के लिए adviceuncle.com पर ट्यून-इन करें।

इस लेख को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें |

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.